https://sachindiaries.in/

Astro Tips For Bathroom सदस्यों के सुख, समृद्धि और स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है

astro-tips-for-bathroom

Astro Tips For Bathroom सदस्यों के सुख, समृद्धि और स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है – घर का टॉयलेट (शौचालय) कितना भी सुंदर क्यों न हो अगर वास्तु नियमों के अनुसार इसका निर्माण ना किया जाए तो यह नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है। वहीं, गलत तरीके से बनी टॉयलेट उस घर के सदस्यों के सुख, समृद्धि और स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है

Astro Tips For Bathroom सदस्यों के सुख, समृद्धि और स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है

  • उत्तर दिशा में टॉयलेट होने से स्वास्थ्य से जुड़ी नकारात्मक समस्याएं आ सकती हैं. गड्ढे को उत्तर-पश्चिम में शिफ्ट करना और दीवारों को काले रंग में रंगना. सफेद रंग के फूलों को धातु के फूलदान में उत्तर दिशा में रखने से भी नकारात्मक प्रभाव दूर होता है.
  • वास्तु के अनुसार टॉयलेट सीट की सबसे अच्छी दिशा दक्षिण–पूर्व या उत्तर–पश्चिम दिशा में होती है। यह इस प्रकार होना चाहिए कि इसकाउपयोग करने वाले व्यक्ति का मुख न तो पूर्व की ओर हो और न ही पश्चिम की ओर।
  • सुनिश्चित करें कि शौचालय पश्चिम या उत्तरपश्चिम में बाथरूम और शौचालय से जुड़ी जगह के लिए स्थित है। ऐसा इसलिए है क्योंकिशौचालय कचरे के निपटान से जुड़ा है।
  • अगर किसी वजह से उत्तर दिशा में शौचालय बनाना पड़े तो शोक पिट को उत्तर-पश्चिम की ओर खिसका देना चाहिए। शौचालय की दिवार पर काला रंग लगाना चाहिए। कोशिश करनी चाहिए कि रात 11 से 1 के बीच शौचालय का प्रयोग न किया जाये।

देश और दुनिया ताज़ा खबरें सबसे पहले  Hindi News 

Leave a Reply

Your email address will not be published.