https://sachindiaries.in/

Mangal Dosh K Upaay जन्म से उसकी कुंडली में मंगल दोष हो

mangal-dosh-k-upaay

Mangal Dosh K Upaay जन्म से उसकी कुंडली में मंगल दोष हो – हिंदू धर्म में शादी से पहले लड़का और लड़की की कुंडली मिलाने का रिवाज है। कुंडली मिलाते वक्त राशि और गुणों के मिलान के साथ-साथ यह भी देखा जाता है कि कहीं लड़का या लड़की में कोई मांगलिक तो नहीं है ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली में पहले, चौथे और सातवें स्थान पर मंगल का होना मांगलिक दोष उत्पन्न करता है. इस दोष के कारण व्यक्ति के वैवाहिक जीवन में संघर्ष और गलतफहमी पैदा करती है. इस कारण विवाह में परेशानियां पैदा होती है.मंगल का अष्टम भाव में होना विवाह के सुख में कमी, ससुराल के सुख में कमी लाता है साथ ही ससुरालपक्ष से रिश्‍तों में खटास आती है।

Mangal Dosh K Upaay जन्म से उसकी कुंडली में मंगल दोष हो

  • अगर किसी व्यक्ति के जन्म से उसकी कुंडली में मंगल दोष हो, परंतु शनि मंगल पर दृष्टिपात करें, तो मंगल दोष खत्म हो जाता है। मकर लग्न में मकर राशि का मंगल और सप्तम स्थान में कर्क राशि का चंद्र हो तो भी मंगल दोष खत्म हो जाता है।
  • यदि दोनों साथी मांगलिक हों तो यह दोष समाप्त हो जाता है। इसके सभी दुष्परिणाम समाप्त हो जाते हैं और दोनों का वैवाहिक जीवन धन्य औरसुखी हो सकता है।
  • मान्यता के अनुसार मंगल दोष के निवारण के लिए हनुमत आराधना का विशेष और शुभ फल प्राप्त होता है। मंगल दोष से पीड़ित व्यक्ति को मंगलवार का व्रत अवश्य करना चाहिए और पूरे दिन पवनपुत्र हनुमान का ध्यान करना चाहिए।

देश और दुनिया ताज़ा खबरें सबसे पहले  Hindi News 

Leave a Reply

Your email address will not be published.